मुख्य कार्यकारी संदेश

श्री प्रदीप मुख़र्जी

एक नव वर्ष, एक नई शुरुआत और मीलों जाना है………

आपको एक सफल और यशस्वी नव वर्ष 2022 की शुभकामनाएं !

2021 उन वर्षों में से एक था जिसमें हम सभी ने बहुत उतार चढ़ाव देखे। हालांकि, सभी बाधाओं के बावजूद ब्रिट ने चिकित्सा, वैज्ञानिक और औद्योगिक उपयोग के लिए आइसोटोप प्रौद्योगिकी के विभिन्न अनुप्रयोगों में काफी प्रगति करते हुये और एक मजबूत और भरोसेमंद लॉजिस्टिक प्रणाली, "ब्रिट आपके दरवाजे पर" पेश करके, ग्राहकों की संतुष्टि के साथ, वर्ष का एक शानदार तरीके से समाप्न किया। सूचना प्रौद्योगिकी से सक्षम, क्लाउड आधारित यह पेशेवर लॉजिस्टिक सेवा जुलाई, 2021 में शुरू की गई और क्लाउड आधारित वास्तविक समय पर कंसाइनमेंट की ट्रैकिंग और ब्रिट ई-पोर्टल के साथ सहज एकीकरण जैसी आकर्षक सुविधाओं से सम्पन्न, यह सेवा ब्रिट के उत्पादों के द्वार वितरण को सुनिश्चित करती है, जो कि विशेष रूप से दूरदराज के क्षेत्रों में स्थित ग्राहकों के लिए एक वरदान साबित हुई है।

ब्रिट पूरे दिल से न्यूक्लियर मेडिसिन बन्धुत्व के लिए समर्पित है और पूरे देश में स्थित अनगिनत रोगियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए उच्च गुणवत्ता, प्रभावी और कम लागत वाली रेडियोभेषज प्रदान करने के लिए निरंतर काम कर रहा है।

साईक्लोन 30 (कोलकाता) विशेष रूप से पूर्वी भारतीय क्षेत्र के लिए सस्ती पी.ई.टी. रेडियोभेषज प्रदान कर रहा है, और इनमें Na[18F]F - हड्डी के लिए पी.ई.टी. चित्रण घटक शामिल है। साइक्लोट्रॉन में उत्पादित 68Ga-गैलियम क्लोराइड – जिसे 68Ga-पी एस एम ए -11 (प्रोस्टेट कैंसर निदान हेतू) और 68Ga-डोटाटेट (स्तन कैंसर और न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर निदान हेतू) तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जाना है - और 201Tl-थैलस क्लोराइड (मायोकार्डियल परफ्यूज़न और पैराथाइरॉइड चित्रण हेतू) का सफलतापूर्वक क्लिनिकल परीक्षण पूरा कर लिया गया है और उपयोगकर्ताओं से उसके बारे में बहुत अनुकूल प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है। इस उत्पाद की वाणिज्यिक प्रमोचन की बहुत जल्द होने की उम्मीद है।

ब्रिट ने, रेडियोभेषज प्रभाग (बीएआरसी) के जोङों से संबंधित विकारों के प्रबंधन के लिए और दौ रेडियोभेषज – 90यट्रियम-हाइड्रॉक्सियापटाइट (90Y-HA) और 177ल्यूटेशियम - हाइड्रॉक्सियापटाइट (177Lu-HA) – का भी प्रमोचन किया। ये रेडियोभेषज, आयातित 90Y- रेडियोभेषज के प्रभावी और किफायती विकल्प हैं। इसी अवधि के दौरान, हाइनिक-आर जी डी कोल्ड किट (टेक्नेटियम-99m हेतू) – जो घातक ट्यूमर के शुरुआती निदान के लिए उपयोग किया जाता है - की भी शुरुआत की गई और ब्रिट, वाशी परिसर में जी.एम.पी. अनुरूप, 177Lu- रेडियोभेषज और 131I-एम आई बी जी इंजेक्शन के उत्पादन के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं का उद्घाटन निदेशक (बीएआरसी) द्वारा किया गया ।

ब्रिट उद्योगों के लिए विकिरण प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग में अथक रूप से निरंतर प्रयासरत है। स्वदेशी रूप से विकसित Co-60 आधारित औद्योगिक रेडियोग्राफी यंत्र " कोकैम-120" की शुरुआत से अग्रणी भारी अभियांत्रिकी उद्योग की मांग को पूरा किया गया है; एक रेडियोग्राफी कैमरा जिसमें अद्वितीय हाइब्रिड परिरक्षण व्यवस्था है जिसमें यूरेनियम, टंगस्टन मिश्र धातु शामिल है। हल्के वजन, संक्षिप्त परिरूप और प्रतिस्पर्धी मूल्य से निश्चित रूप से भारतीय उद्योग की अभिलाषा को पूरा करने की अपेक्षा है। एक अन्य स्वदेशी रूप से विकसित औद्योगिक रेडियोग्राफी उपकरण “रिमोटली ऑपरेटेड टंगस्टन शील्डेड एक्सपोजर डिवाइस (रोटेक्स-I)”, जिसमें Ir-192 रेडियोआइसोटोप का उपयोग होता है, की भी शुरुआत की गई है। ब्रिट के ये दो अनूठे योगदान देश के आत्मनिर्भर भारत अभियान को समर्पित हैं।

ब्रिट निर्यात के क्षेत्र में अपना उद्यम निरंतर जारी रखे हुये है और Co-60 विकिरणक स्रोतों की एक महत्वपूर्ण मात्रा (1.35 MCi) श्रीलंका, मलेशिया और वियतनाम को निर्यात की है । ब्रिट ने मोबाइल फूड इरेडिएटर (MFI), एक श्रेणी- II, बैच प्रकार के विकिरणक की भी अवधारणा की है, जिसे दूरस्थ स्थानों पर छोटे जिलों तक पहुँचाया जा सकता है और इसे कम डोज वाले खाद्य उत्पादों को विकिरणित करने के लिए परिरूप किया गया है।

विखंडन आधारित 99Mo उत्पादन सुविधा (FMP) की कमीशनिंग की सफलतापूर्वक शुरुआत की गई और यह एक उन्नत चरण में पहुंच गया है और अंतिम उत्पादन परीक्षण इस वर्ष की पहली तिमाही में शुरू किया जायगा।

वर्ष 2021 ने भारत की आजादी के 75 वें वर्ष को चिह्नित किया है और आजादी का अमृत महोत्सव को मनाने और नियमित सतत शिक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न ऑनलाइन आउटरीच कार्यक्रम / व्याख्यान आयोजित किए गए। ब्रिट ने अपने कर्मचारियों / ग्राहकों के ज्ञान के आधार का विस्तार करने और साथ ही उनके स्वास्थ्य और समुदाय की सुरक्षा को भी ध्यान में रखते हुये, एक सुरक्षित और जिम्मेदार तरीके से काम करने की प्रतिबद्धता को कोविड महामारी के दौरान भी निरंतर जारी रखा है ।

पिछले 30 वर्षों से ब्रिट की सेवा प्रदान करने की संतुष्टि अपने ग्राहकों की अपेक्षाओं और सराहनाओं से है और ब्रिट के क्षेत्रीय केंद्रों द्वारा प्रदान किए गए निरंतर सहयोग और ग्राहक सेवा नेटवर्क के साथ-साथ एक उत्कृष्ट लॉजिस्टिक प्रदान करने से इसमें और भी वृद्धि हुई है। ब्रिट नागरिकों को लाभान्वित करने वाले विश्वसनीय उत्पादों को उपलब्ध कराने के लिए अपने विविध संविभागों का निरंतर विस्तार करते हुये, अपने अस्तित्व के चौथे दशक की एक रोमांचक और समृद्ध शुरुआत करता है।

धन्यवाद और जय हिंद !

मुख्य कार्यकारी वि. आ. प्रौ. बो. : एक परिचय , श्री. प्रदीप मुखर्जी, उत्कृष्ट वैज्ञानिक और मुख्य कार्यकारी, ब्रिट- भारतीय इंजीनियरिंग विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (IIEST), पश्चिम बंगाल (पूर्व में बंगाल इंजीनियरिंग कॉलेज) के पूर्व छात्र हैं, जहाँ से उन्होंने 1987 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की। 1988 में बीएआरसी प्रशिक्षण स्कूल के 31वें बैच से स्नातक की उपाधि प्राप्त की और बीएआरसी ज्वाइन किया । आपने अनुसंधान रिएक्टर के डिजाइन निर्माण और कमीशनिंग के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य किये है ।

संपर्क:

 श्री. प्रदीप मुखर्जी

 उत्कृष्ट वैज्ञानिक ,मुख्य कार्यकारी

 विकिरण और आइसोटोप प्रौद्योगिकी बोर्ड

  सेक्टर 20,ब्रिट/बीएआरसी वाशी कॉम्प्लेक्स नवी मुंबई - 400703

 022-27840000/022-27887888

 chief[at]britatom[dot]gov[dot]in

श्री प्रदीप मुखर्जी, ब्रिट के मुख्य कार्यकारी का कार्यभार ग्रहण करते हुए