मील के पत्थर

ब्रिट की गत 5 वर्षों की कुछ प्रमुख उपलब्धियां

अपोलो करार
प्रशिक्षण (आईएईए)
Cs आधारित बीआई
जीसी संरक्षा

2015

अवंती मेगा फूड पार्ट प्रा. लि. के साथ खाद्य एवं चिकित्सा उत्पादों के विकिरण संसाधन हेतु जुलाई 14 2015 को इंदौर स्थित विकिरण ससाधन संयंत्र की स्थापना के लिये समझौता ज्ञापन करार पर हस्ताक्षर

इलैक्ट्रो मैग्नेटिक इंडस्ट्रीज के साथ खाद्य एवं चिकित्सा उत्पादों के विकिरण संसाधन हेतु जुलाई 25 2015 को गुजरात के वडोदरा जिले स्थित सिन्नौर में विकिरण संसाधन संयंत्र की स्थापना के लिये समझौता ज्ञापन करार पर हस्ताक्षर

कृषक, लासलगांव ने 328 टन आम तथा 90 टन प्याज को संसाधित किया गया, यह अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है ।

संवर्धित सुरक्षा विशिष्टताओं के साथ जीसी-5000 को विकसित किया गया

ब्रिट में एन,गामा अभिक्रिया द्वारा Mo-99 के उत्पादन के व्यावहारिक पहलुओं पर आईएईए अंतरप्रादेशिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम सफलतापूर्वक संचालित किया गया

प्रथम Cs-137 आधारित रक्त-किरणक का विनिर्माण किया गया

आरपीएल ब्रिट, वाशी सम्मिश्र में Lu-177 के 10 क्यूरी (Ci) प्रहस्तन हेतु एईआरबी का अनुमोदन प्राप्त किया गया

टीसीके के विनिर्माण की सुविधाओं का जीएमपी प्रत्यायन प्राप्त किया गया

यूकेएएसए (यूनाईटेड किंगडम एक्रेडिटेशन सर्विसेस) द्वारा आरआईए प्रयोगशाला का आईएसओ प्रत्यायन प्राप्त किया

2014

गुजरात स्थित बाबला में गुजरात एग्रो औद्योगिक समूह के किरणक का कमीश्नन ।

उन्नाव, उत्तर प्रदेश में इम्पार्शियल एग्रोटेक प्रा. लि. के किरणक का कमीश्नन ।

ब्रिट तथा सॉइमैक द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया 3 MCi बहुउद्देशीय गामा किरणक का कोलंबो, श्रीलंका में कमीश्नन ।

ऍडिस अबाबा, इथियोपिया मे सेट्से फ़्लाई निर्मूलन परियोजना हेतु ब्रिट तथा सॉइमैक द्वारा संयुक्त रूप से निर्मित रक्त किरणक का कमीश्नन । 

अमेरिकी मूल के स्त्रोतो के प्रत्यावर्तन हेतु लॉस एलॉमॉस प्रयोगशाला, यूएस के साथ करार पूर्ण किया गया ।

विकिरण संसाधन संयंत्र हेतु मैसर्स ऑर्कॉन हेल्थ्कयर, बाबला, अहमदाबाद, गुजरात तथा मैसर्स रघुवंश एग्रो फार्म्स लि. इन्दौर, मध्य प्रदेश के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये ।

निदान एवं उपचार के लिये 131I-एमआईबीजी  तथा 153Sm-इडीटीएमपी रेडियोभेषजों के उत्पादन एवं आपूर्ति आवृत्ति में वृद्धि ।

  1. उच्च रेडियोसक्रियता 131I कैप्सूल उत्पादन : 3Ci/बैच उत्पादन क्षमता मानदंड हासिल किया गया
  2. कार्बनिक लिगैंडस एवम ड्यूटरेटे्ड घोलों के परीक्षण हेतु आरपीएचपी में सुसंहत एनएमआर फ़ॅसिलिटि का कमीशन किया गया
  3. टी सी के किट्स के शीत भंडारण के लिये जीएमपी आधारित फ़ॅसिलिटि कमीशन की गई 

आरआइऍ प्रयोगशाला आईएसओ 9001:2008,  आईएसओ 13485:2012 एवं सीई मार्किंग द्वारा प्रमाणित की गई

कॉलटैक जॅनरेटर हार्डवेयर के पुनश्चक्रण तथा प्रबंधन हेतु ट्रायल आधार पर बारकोडिंग प्रणाली की शुरुआत की गई

प्रादेशिक केंद्र बेंगलुरु में रेडियोभेषजों की डोर डिलीवरी सेवा प्रारंभ की गई

2013

इंडियन न्युक्लियर सोसाइटी (आई एन एस) द्वारा ब्रिट को वर्ष 2012 के लिये औद्योगिक उत्कृष्टता सम्मान प्रदान किया गया 

बेंगलुरु क्षेत्रीय केंद्र में आर ए एल प्रयोगशाला का उद्घाटन

निप्रो संयंत्र को 882 किलोक्यूरी कोबाल्ट - 60 की आपूर्ति

कुमाका उद्योग के साथ सानंद गुजरात में विकिरण संसाधन संयंत्र स्थापना हेतु एमओयू पर हस्ताक्षर

दो जीसी 900 तथा एक जीसी 5000 का देश प्रत्यावर्तन पूर्ण किया गया

श्रीलंका में कोलंबो स्थित 3 मेगाक्यूरी बहुउद्देशीय गामा किरणक का निर्माण कार्य पूर्ण हुआ

उच्च डोज़ I 131 कैप्सूल्स तथा Lu - 177 ई डी टी एम पी का वितरण प्रारंभ

99m Tc शीत किट ट्रोडॉट, हाईनिकटॉक तथा टॅट्रोफोस्मिन् का शुभारंभ

वाशी नवी मुंबई में रेडियोभेषज ग्राहक संपर्क प्रकोष्ठ की स्थापना

दिल्ली स्थित क्षेत्रीय केंद्र द्वारा रेडियभेषजों की डोर डिलीवरी का आरंभ

2012

विखंडन मॉली संयंत्र परियोजना का सिविल निर्माण कार्य प्रारंभ

पुणे सतारा मार्ग पर निप्रो कॉर्पोरेशन किरणक का कमीशनन

रेडिएशन सायनोवेक्टमी के लिए 32 P समैरियम फॉस्फेट कोलॉइड उपलब्ध कराया गया

चिकित्सकीय 131 I एमआईबीजी उपलब्ध कराया गया

मंगलौर विश्वविद्यालय में ब्रिट के सहयोग से एच पाइलोरी परीक्षण सेवा का आरंभ किया गया

65 Ci इरिडियम रेडियोग्राफी उपकरण लांच किया गया

राजीव गांधी कैंसर संस्थान नई दिल्ली तथा सीएमसी वेल्लोर को रक्त किरणकों की आपूर्ति

2011

वाशी में कॉलम जॅनरेटर उत्पादन फॅसिलिटी का कमिशनन संपन्न हुआ । 

उच्च मात्रा दर के प्रोटोटाईप ब्रैकीथेरापी उपकरण का निर्माण किया गया ।

बीएलसी-125  परिवहन कास्क (पीपे) के लिये टाइप बी (यू) अनुमोदन प्राप्त हुआ ।

65 क्यूरी क्षमता वाले इरिडियम-192 आधारित रेडियोग्राफी एक्सपोज़र डिवाइस रोली-II के लिये टाइप बी (यू) अनुमोदन प्राप्त किया गया।

वाशी में विकिरण संसाधन संयंत्र की स्थापना के लिये एमएसएएमबी (MSAMB) के साथ करर पर हस्ताक्षर किय गये ।

पश्चिम बंगाल  स्थित मेदिनिपुर के कनकपुर में विकिरण संसाधन संयंत्र के संस्थापन के लिये एमएसवी लेबोरटरीज़ के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये गये ।

रूमानिया स्थित बुकारेस्ट के नॅशनल इंस्टिट्यूट फ़ोर आर एंड डी इन फिसिक्स एंड नुक्लियर एनर्जी को गामा चैंबर 5000  का निर्यात किया गया ।

अंतिम अपडेट : 20-05-2016 14:20
mix_motto govdotin